पुलिस कमिश्नर द्वारा कोविड -19 प्रोटोकॉल की सख़्ती से पालना के आदेश जारी

पुलिस कमिश्नर द्वारा कोविड -19 प्रोटोकॉल की सख़्ती से पालना के आदेश जारी

पुलिस कमिश्नर द्वारा कोविड -19 प्रोटोकॉल की सख़्ती से पालना के आदेश जारी

कहा, मास्क ना पहनने और सामाजिक दूरी के नियमों की उल्लंघना करने वालों के ख़िलाफ़ मुहिम चलाई जाये नशा तस्करों की संपत्तियों को ज़ब्त करने की प्रक्रिया को भी तेज़ करने के लिए कहा

जालंधर (TECHNO REPORTER) : कोविड -19 के बढ़ रहे मामलों के मद्देनज़र और पंजाब सरकार द्वारा लोगो की भीड़ से सम्बन्धित जारी नई पाबंदियां पुलिस कमिश्नर जालंधर श्री गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने पुलिस आधिकारियों को कहा कि ज़िले में कोविड -19 प्रोटोकॉल की सख़्ती से पालना की जाये।

पुलिस आधिकारियों की मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए पुलिस कमिश्नर ने निर्देश दिए कि कोविड -19 प्रोटोकॉल की उल्लंघन जिसमें मास्क ना पहनना और सामाजिक दूरी की पालना करना शामिल है के उल्लंघन को रोकने के लिए विशेष मुहिम चलाई जाये। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा अन्दरूनी एवं बाहरी भीड़ों के बारे जारी दिशा निर्देशों से पुलिस आधिकारियों को अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि नये दिशा निर्देशों अनुसार अंदरूनी भीड के लिए 100 और बाहरी भीड़ के लिए 200 व्यक्तियों की संख्या राज्य सरकार की तरफ से निश्चित की गई है। उन्होंने बताया कि यह नये दिशा निर्देश 1 मार्च 2021 से अगले आदेशों तक लागू हो जाएंगे। उन्होंने पुलिस आधिकारियों को निर्देश दिए कि पंजाब सरकार के आदेशों को सुचारू ढंग से लागू किया जाये।

पुलिस कमिश्नर ने पुलिस आधिकारियों को कहा कि शहर में कोविड प्रोटोकॉल की सख़्ती से पालना के लिए विशेष मुहिम चलाई जाये, जिस में मास्क डालना और सामाजिक दूरी की पालना को यकीनी बनाया जाये जिससे कोविड -19 वायरस को फैलने से रोका जा सके।

इसी तरह उन्होंने सभी फील्ड पुलिस आधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि नशा तस्करों के विरुद्ध ज़ीरो टौलरैंस नीति को अपनाते हुए उनके ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त कार्यवाही अमल में लाई जाये। इस अवसर पर नशा विरोधी मुहिम का जायज़ा लेते हुए पुलिस कमिश्नर ने कहा कि अपने -अपने अधिकार क्षेत्रों में नशे की सप्लाई लाईन को पूरी तरह तोड़ दिया जाये।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह मुख्य मंत्री पंजाब की तरफ से राज्य से नशे के पूर्ण रूप से ख़ात्मे की वचनबद्धता के अंतर्गत उन्होंने पुलिस आधिकारियों को कहा कि एन.डी.पी.एस.एक्ट के अंतर्गत नशा तस्करों की संपत्तियों को ज़ब्त करने की प्रक्रिया को तेज किया जाये।

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि पुलिस अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में किसी भी प्रकार की नशा समग्गलिंग की कार्यवाही के लिए जवाबदेह होंगे। उन्होंने पुलिस आधिकारियों को कहा कि नशे के मामलों में विस्तार से जांच को यकीनी बनाया जाये जिससे इस लत को पूरी तरह ख़त्म किया जा सके। उन्होंने कहा कि नशा समग्गलिंग के आदी लोगों की पहचान करके कानून अनुसार उन के ख़िलाफ़ कार्यवाही को यकीनी बनाया जाये जिससे जालंधर शहर को नशा मुक्त बनाया जा सके।

इस अवसर पर डिप्टी कमिश्नर पुलिस गुरमीत सिंह, जगमोहन सिंह और अरुण सैनी, अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर पुलिस एच.एस.ओ बैनीपाल और समूह एस.एच.ओ. उपस्थित थे।